सीताफल के फायदे और नुकसान | 1 Custard Apple Many Benefit’s

Rate this post

सीताफल के फायदे और नुकसान : सीताफल जिसे कस्टर्ड एप्पल और शरीफा के नाम से भी जाना जाता है यह फल ज्यादातर ठंडी के मौसम में पाया जाता है सीताफल में बहुत से पोषक तत्व पाए जाते हैं जो हमारे शरीर को बढ़ावा देने में हमारी मदद करते हैं

सीताफल को चीनी एप्पल भी कहा जाता है इसमें 100 ग्राम पोषक तत्व पाए जाते हैं इसमें प्रोटीन कार्बोहाइड्रेट वसा कैलोरी लोह तत्व एस्कोरबिक एसिड कैरोटीन राइबोफ्लेविन नियासिन कैल्शियम फास्फोरस और थायमीन जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं

सीताफल-के-फायदे-और-नुकसान.webp

सीताफल के फायदे और नुकसान|सीताफल खाने का सही समय क्या होता है

आपको रात के समय सीताफल का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए आप इसका सेवन रात के समय को छोड़कर किसी भी समय आप इसका सेवन कर सकते हैं सीताफल में प्रचुर मात्रा में विटामिन ए और विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो महिलाओं को प्रेग्नेंसी के दौरान भ्रूण के विकास में मदद करता है आमतौर पर सीताफल खाने का सही समय सुबह और दोपहर का माना जाता है इसे आप स्नैक्स के रूप में भी खा सकते हैं यदि आप सुबह के समय इसका सेवन करते हैं तो सबसे पहले आपको थोड़ा सा नाश्ता कर लेना है इसके बाद आपको सीता फल खाना चाहिए तो ही यह आपके लिए और भी ज्यादा लाभकारी होता है

सीताफल खाने का सही तरीका क्या होता है

सीताफल के बीज और उसके जो पत्ते होते हैं उसमें कुछ विषैले पदार्थ पाए जाते हैं और इसीलिए इस के बीच और पत्तों को नहीं खाना चाहिए सीताफल का बीज मुंह में चबाने से इसके जो विषैले तत्व होते हैं वह आपके मुंह पर भी आ सकता है जो कि आपके लिए नुकसानदायक है जब भी आप सीताफल को खाते हैं तो आपको इस बात का ध्यान जरूर रखना चाहिए यदि साबूत सीताफल के बीज आप गलती से निगल जाते है तो इसमें कोई परेशानी की बात नहीं है क्योंकि यह बिना पचे मलद्वार से बाहर निकल जाता है

सीताफल में कैलोरी और शक्कर अधिक होती है इसमें सेब संतरा आदि से दुगनी मात्रा में कैलोरी होती है इसीलिए डायबिटीज के मरीजों को सीताफल का सेवन नहीं करना चाहिए यदि आप सीताफल का सेवन करते हैं तो आपको इसका सेवन लिमिट मैं करना चाहिए यदि आप अपना वजन कम करना चाह रहे हैं तो आप अधिक मात्रा में सीताफल ना खाएं क्योंकि इससे आपका वजन बढ़ सकता है इसीलिए जिसका वजन बहुत ज्यादा होता है उसको भी सीताफल का सेवन नहीं करना चाहिए

अधिक सीताफल खाने से ठंड लग कर आपको बुखार आ सकती है ठंडी तासीर वालों को इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए इसके अलावा कम मात्रा में सीताफल खाने से किसी प्रकार का नुकसान नहीं होता है डायबिटीज या फिर जिन्हें जल्दी जुखाम हो जाता है उन्हें अपने डॉक्टर से कंसल्ट कर के ही सीताफल का सेवन करना चाहिए

सीताफल खाने के बाद क्या नहीं खाना चाहिए

सीताफल खाने के बाद आपको कभी भी पानी नहीं पीना चाहिए क्योंकि इससे आपको सर्दी जुखाम की प्रॉब्लम हो सकती है आपको सीताफल खाने के बाद दूध का भी सेवन नहीं करना चाहिए यह भी आपके लिए नुकसानदायक होता है इससे आपको डाइजेशन से रिलेटेड प्रॉब्लम हो सकती है तो आप सीताफल खाने के बाद दूध का भी सेवन नहीं करें

सीताफल खाने के फायदे

सीताफल आपके हृदय के लिए बहुत लाभदायक होता है सीताफल में मौजूद पोटेशियम और मैग्नीशियम ह्रदय लाभदायक है यह आपको हृदय रोगों से बचाता है शरीफा में मौजूद फाइबर की प्रचुर मात्रा ब्लड प्रेशर को कम करती है और कैस्ट्रॉल को कम करके हृदय को लाभ प्रदान करती है यह आपकी शारीरिक कमजोरी को दूर करने में आपकी मदद करती है क्योंकि इसमें मैग्नीशियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है मैग्नीशियम शरीर में पानी की मात्रा को संतुलित करता है इससे जोड़ों के दर्द को आराम मिलता है

मैग्नीशियम की कमी से कमजोरी थकान ये सारी समस्याओं को दूर होती है सीताफल आपकी आंखों के लिए लाभदायक होता है सीतापुर में पाया जाने वाला विटामिन ए और विटामिन सी तथा राइबोफ्लेविन के कारण आपकी आंखों के लिए फायदेमंद होता है यह आपकी नेत्र शक्ति को बढ़ाता है सीताफल का सेवन करना आपको मानसिक शांति प्रदान करता है इसे खाने से आपका मन प्रसन्न हो जाता है आपकी जो तनाव की समस्या होती है वह दूर होती है

also read: चुकंदर खाने के फायदे और नुकसान

जिन्हें मानसिक का तनाव होता है उन्हें सीताफल का सेवन जरूर करना चाहिए सीताफल आपकी दातों के लिए भी फायदेमंद होता है यह दातों और मसूड़ों की समस्याओं को दूर करता है इसमें पाया जाने वाला कैल्शियम दांतो को मजबूत बनाता है सीताफल आपके दातों के लिए भी लाभदायक है और आपके मुंह के बदबू को भी दूर करता है सीताफल गंजेपन के लिए भी लाभदायक होता है सीताफल के बीज और बकरी का दूध साथ में पीसकर इसे सिर में लगाने से गंजापन दूर हो जाते हैं और बाल धीरे-धीरे होने लगते हैं यह दूध आपकी आंखों में ना जाए इस बात का ध्यान रखें सीताफल दस्त के लिए भी लाभदायक होता है

कच्चे फल का गूदा खाने से दस्त और पेचिश में भी आराम मिलता है गूदे को आप सुखा कर भी रख सकते हैं जरूरत पड़ने पर आप इसे भिगोकर भी खाए तो इससे दस्त बहुत ही जल्दी ठीक होता है गर्भावस्था के दौरान सीताफल का सेवन करना लाभदायक होता है इससे शारीरिक कमजोरी दूर होती है उल्टी और जी घबराने जैसी समस्या नहीं होती है सुबह की थकान में आपको आराम मिलता है मन प्रसन्न रहता है और शिशु के जन्म के बाद सीताफल खाने से स्तन के दूध में भी वृद्धि होती है

हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करें

यह आपकी वजन को बढ़ाने में मदद करता है यदि आप वजन बढ़ाना चाहते हैं तो सीताफल का भरपूर उपयोग करिए इसमें प्राकृतिक शक्कर अच्छी मात्रा में होती है जो बिना किसी नुकसान के आपके शरीर का वजन बढ़ाती है यह कब्ज की समस्या में भी आपको राहत दिलाता है सीताफल में पर्याप्त मात्रा में कॉपर और फाइबर होते हैं जो मल को नरम करके कब्ज की समस्या को मिटाने में आपकी मदद करते हैं इसीलिए आप इसका सेवन करिए यह आपके पाचन तंत्र को मजबूत करने में आपकी मदद करता है

सीताफल खाने के नुकसान

सीताफल : सीताफल मैं फाइबर की मात्रा अधिक होती है सीताफल को अधिक मात्रा में यदि आप खाते हैं तो तो इससे पेट में परेशानी हो सकती है पेट की परेशानियां जैसे कि दस्त गैस आंतों में जकड़न आदि समस्याएं आपको हो सकते हैं अधिक मात्रा में सीताफल का सेवन करने से आपके शरीर में आयरन की मात्रा बहुत अधिक हो सकती है जिसके कारण आपको पेट दर्द उल्टी और मतली जैसी समस्या देखने को मिल सकती है

इसके अलावा सीताफल आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है लेकिन इसके बीजों का सेवन करने से आपको बचना चाहिए क्योंकि यह भी जहरीले होते हैं और इसका आपके शरीर पर बहुत ही नकारात्मक प्रभाव पड़ता है कुछ लोगों को सीताफल का सेवन करने से एलर्जी हो सकती है इसीलिए ऐसे व्यक्तियों को सीताफल का सेवन करने से बचना चाहिए जिन्हें की बहुत जल्दी एलर्जी हो जाती है या फिर सीताफल से आपको एलर्जी होती है यदि आप किसी विशेष प्रकार की दवाइयों का सेवन कर रहे हैं तो अब सीताफल का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से एक बार सलाह जरूर ले

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Stay Connected

3,683फॉलोवरफॉलो करें
0सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें
- Advertisement -

Latest Articles