बैंक FD करवाने की सोच रहे हैं तो यहां देखें पूरी लिस्ट, जानिए किस बैंक ने बढ़ाई हैं ब्याज दरें?

Rate this post

Bank FD: यदि आप बैंक के एफडी fixed deposit करवाने के बारे में सोच रहे हैं तो यहां पूरी लिस्ट देख ले कि कौन-कौन सी बैंकों ने ब्याज दर बढ़ाई है

हाल ही में आरबीआई की तरफ से कई सारे अपडेट जारी किए गए जिसकी वजह से सभी बैंकों में कई प्रकार के बदलाव हुए हैं जिसकी वजह से बैंकों में फिक्स डिपॉजिट पर मिलने वाली ब्याज दर पर भी असर पड़ा है इसलिए आपको किसी भी बैंक में एफडी फिक्स डिपॉजिट करने से पहले यह जरूर जान लेना चाहिए कि किस बैंक में कितना ब्याज मिल रहा है और इस पर कितनी प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है बैंक में मिलने वाली ब्याज दरों पर नया नियम 10 जून से लागू कर दिया गया है जिसके कारण Central Bank of India जैसे बैंक में भी अपनी ब्याज दरें बढ़ा दी है

बैंक-FD-करवाने-की-सोच-रहे-हैं-तो-यहां-देखें-पूरी-लिस्ट.webp

यदि आप सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया में फिक्स डिपाजिट करते हैं तो आपको अधिक ब्याज मिलेगा, लेकिन इसी के साथ बैंक की कुछ निजी शर्तें भी हैं जिसके अनुसार यदि कोई भी ग्राहक दो करोड़ रुपए से कम का फिक्स डिपाजिट करता है तो उस पर मिलने वाला ब्याज दर ज्यादा होगा इसी के साथ चलिए जानते हैं अन्य बैंकों की ब्याज दर जिन बैंकों ने एफडी पर ब्याज दर बढ़ाई है-

Follow US: Google News

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया FD की ब्याज दरें

  • 7 से 14 दिन तक की अवधि में मिलने वाली ब्याज दर 2.75% है
  • 15 से 30 दिन की अवधि में दी जाने वाली ब्याज दर 2.90% है
  • 31 से 45 दिनों के भीतर 2.90% ब्याज मिलता है
  • 46 से 59 दिनों तक के भीतर 3.25%
  • 60 से 90 दिनों तक 3.25%
  • 91 दिन से 179 दिन तक के भीतर मिलने वाली ब्याज दर 3.80%
  • 180 दिन से लेकर 270 दिनों तक की ब्याज दर 4.35 प्रतिशत है
  • 271 दिन से लेकर 364 दिन तक के भीतर मिलने वाली ब्याज दर 4.35 प्रतिशत है
  • 1 वर्ष से अधिक और 2 वर्ष से कम समय में मिलने वाली ब्याज दर 5.20% है
  • 2 वर्ष से अधिक और 3 वर्ष से कम अवधि में मिलने वाली ब्याज दर 5.30% है
  • 3 वर्ष से अधिक और 5 वर्ष से कम की अवधि में मिलने वाली ब्याज दर 5.35% है
  • 5 वर्ष से लेकर 10 वर्ष तक मिलने वाली ब्याज दर 5.60% है

बता दें कि बैंकों की ब्याज दरों और ईएमआई की बढ़ोतरी का मुख्य कारण आरबीआई के द्वारा दिए गए Repo Rate को बढ़ाने का निर्देश है पिछले 5 हफ्तों में दो बार रेपो रेट में बढ़ोतरी की गई, आरबीआई गवर्नर की तरफ से रेपो रेट की बढ़ोतरी करने के लिए 50 बेसिस प्वाइंट बढ़ाने का निर्देश दिया गया था जिसकी वजह से रेपो रेट 4.40% से बढ़कर 4.90% हो गया

रेपो रेट की बढ़ोतरी में यह सबसे अधिक बढ़ोतरी है जिसके अनुसार अभी पिछले कुछ समय पहले जब पहली बार बढ़ोतरी की गई थी तो उस समय बढ़कर या 4.40% हो गया था यदि बढ़ोतरी के अनुसार पूरे रेपो रेट की गणना की जाए तो यह अब तक कुल 90 बेसिस प्वाइंट तक बढ़ चुका है

रेपो रेट में बढ़ोतरी होने के कारण यदि किसी व्यक्ति में काले से कोई पर्सनल लोन ले रखा है या फिर लोन लेने की तैयारी कर रहा है कि इसे भी यहां पर ध्यान देने की आवश्यकता होगी क्योंकि रेपो रेट बढ़ने से EMI रेट में बढ़ोतरी की गई है. यदि आप किसी भी बैंक में फिक्स डिपॉजिट करने जा रहे हैं या फिर बैंक के द्वारा लोन लेने जा रहे हैं तो आपको सबसे पहले यह जरूर देख लेना चाहिए कि बैंक के द्वारा मिलने वाली ब्याज दर कितनी है और साथ ही साथ यदि आप लोन ले रहे हैं तो लोन पर चुकाने वाली EMI पर कितने प्रतिशत ब्याज दर रखी गई है

इसे भी पढ़ें: Ration Card: खुशी से झूम उठेंगे राशन कार्ड धारक सरकार दे रही है यह सारी सुविधाएं

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Stay Connected

3,683फॉलोवरफॉलो करें
0सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें
- Advertisement -

Latest Articles