Benifits of Jamun: जामुन खाना पसंद है तो जान लीजिए इसे खाने के 13 फायदे

Rate this post

Benifits of Jamun: आयुर्वेद के अनुसार जामुन को औषधि के रूप में जाना जाता है इसका उपयोग कई सारी बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है जामुन के फायदे

जामुन एक ऐसा फल है जिसके फूल पत्तियों और गुठलियों का उपयोग औषधि के रूप में किया जाता है जामुन को अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग भाषा में अलग-अलग नामों से जाना जाता है जामुन के कई सारे प्रचलित नाम जैसे कि- जामुन, राजमन, syzugium, काला जामुन, जमाली, ब्लैकबेरी, महाफला, जामुल, आदि नामों से जाना जाता है जामुन एक अमली और कसेली प्रकृति का फल है यह स्वाद में मीठा होता है आमतौर पर लोग इसे नमक के साथ खाना पसंद करते हैं

जामुन के अंदर कई सारे प्राकृतिक औषधीय गुण पाए जाते हैं जो हमारे शरीर में कई सारी बीमारियों को नष्ट करने के लिए मदद करते हैं साथ ही साथ यह कई सारी ऐसी बीमारियों से लड़ने में हमारी मदद करते हैं और इनके अंदर पाए जाने वाले विटामिन कई रोगों को ठीक करने में भी लाभदायक होते हैं आज के इस लेख में हम जामुन के 13 ऐसे फायदों के बारे में जानेंगे जो हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी ज्यादा लाभदायक होते हैं

Benifits of Jamun (जामुन के फायदे)

benifits-of-jamun.webp

जामुन के ज्यादातर भागों का उपयोग औषधियों के रूप में किया जाता है जामुन के फल के अंदर जो विटामिन और मिनरल्स मौजूद होते हैं वह हमारे शरीर के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होते हैं साथ ही साथ कुछ ऐसे अंदरूनी और बाहरी रोग होते हैं जिनसे बचाव करने के लिए यह जामुन के पत्ते और गुठली भी काफी ज्यादा फायदेमंद होती है चलिए यह जानते हैं कि जामुन की पत्तियों गुठलियों और फलों का उपयोग करके कौन-कौन सी बीमारियों से छुटकारा पाया जा सकता है और यह किन किन रोगों के लिए लाभदायक होता है

जामुन के अंदर कौन सा विटामिन पाया जाता है?
Benifits of Jamun: जामुन के अंदर विटामिन सी हेमोग्लोबिन ग्लूकोस और प्रपोज फ्रुक्टोज भरपूर मात्रा में पाया जाता है साथ ही साथ इसके बीज के अंदर कार्बोहाइड्रेट प्रोटीन कैल्शियम मौजूद होता है इसके अंदर आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है इसमें विटामिन बी कैरोटीन मैग्नीशियम और फाइबर भी कुछ मात्रा में उपलब्ध होता है

यह भी पढ़ें

रक्त को शुद्ध करे

जामुन के फायदे: जामुन के फल के अंदर वैसे तो कई सारे गुण मौजूद होते हैं लेकिन यह ब्लड प्यूरीफायर करने के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है या आपके खून को साफ करता है जिससे आपका खून प्यूरीफाइड होने के बाद आपके मेटाबॉलिज्म का स्तर उचित मात्रा में पहुंच जाता है और आपको स्क्रीन से संबंधित बीमारियों का सामना नहीं करना पड़ता है इसके अंदर शरीर को भीतर और बाहर दोनों तरफ से साफ करने के गुण पाए जाते हैं

जामुन-खाने-के-फायदे.webp

आंखों के लिए जामुन के फायदे

आंखों संबंधित समस्याओं के लिए जामुन के प्रति काफी ज्यादा फायदेमंद होते हैं यदि आपकी आंखों में जलन कीचड़ आना और किसी भी प्रकार की आंखों से संबंधित समस्या है तो आप जामुन की 15 से 20 मुलायम पत्तों को 400 मिलीग्राम पानी में पकाकर इस्तेमाल कर सकते हैं इसे बनाने के लिए आपको तब तक पकाना होगा जब तक कि एक चौथाई पानी ना बच जाए जब इसका एक चौथाई भाग पानी बचता है तो आप इस को ठंडा कर लें और ठंडा करके इससे आंखों को धो सकते हैं जिससे आंखों संबंधित समस्याओं को दूर करने में लाभ मिलता है

दांत दर्द के लिए जामुन के फायदे

जामुन का फल दातों के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होता है यदि किसी व्यक्ति को दांतों में दर्द रहता है या पायरिया से संबंधित समस्या है तो इसे जामुन के पत्तों और जामुन के फलों के रस का उपयोग करके ठीक किया जा सकता है यदि आपको पायरिया की समस्या है तो आप जामुन के पके फलों का रस निकालकर इससे कुल्ला कर सकते हैं जिससे आपको पायरिया में आराम मिलेगा साथ ही साथ जामुन के पत्तों को जलाकर इसकी राख को अपने दांतों और मसूड़ों पर मसलने से दांत और मसूड़े मजबूत होते हैं और दर्द की समस्या से छुटकारा मिलता है

मुंह के छालों में जामुन के पत्तों का उपयोग

Benifits of Jamun: मुंह में छाला पड़ना एक आम समस्या है ज्यादातर लोगों के अंदर यह समस्या देखने को मिलती है यह समस्या पेट की गर्मी के कारण उत्पन्न होती है और पेट में गर्मी बढ़ने के कारण आपके मुंह में छाले पड़ने शुरू हो जाते हैं यदि आपके मुंह में बार-बार छाले पड़ते हैं तो आप जामुन के पत्तों का रस निकालकर इससे कुल्ला कर सकते हैं जिससे आपको बार बार मुंह में छाले पड़ने जैसी समस्या से छुटकारा मिल सकता है जामुन की तासीर कैसी होती है इसकी वजह से यदि आप इस से कुल्ला करते हैं तो यह आपके मुंह में पढ़ने वाले छाले के कारण होने वाले दर्द से राहत दिलाता है

यह सिर्फ मुंह के छालों के लिए ही नहीं बल्कि गले के लिए भी काफी ज्यादा फायदेमंद होता है यदि आपके गले में दर्द है या गले से संबंधित और कोई समस्या है तो आप जामुन के फल का उपयोग करके काफी ज्यादा जल्दी इससे राहत पा सकते हैं यदि आप रोजाना 10 से 15 मिली जामुन के फल का रस निकालकर इसका सेवन करते हैं तो यह गले से संबंधित सभी समस्याओं से राहत दिला सकता है

इसी के साथ यदि आपके गले में हमेशा दर्द रहता है तो जामुन के पेड़ की छाल 1 से 2 ग्राम लेकर इसका चूर्ण बना सकते हैं और इसका उपयोग कर सकते हैं इसका उपयोग करने के लिए आपको इस चूर्ण में शहद मिलाकर उपयोग करना चाहिए इसे आप बाजार से भी खरीद सकते हैं बाजार में आपको जामुन की छाल का चूर्ण और शहद काफी आसानी से मिल जाता है

जामुन दिलाए डिसेंट्री से आराम

Benifits of Jamun: डिसेंट्री जिसे सामान्य भाषा में पेचिश के नाम से जाना जाता है पेट में जोड़ी ऐसी समस्या है जहां कभी-कभी मल के साथ खून भी आने लगता है और यह बहुत ही दर्दनाक समस्या हो जाती है और कई सारी दवाइयां करने के बावजूद भी कई बार फायदा नहीं मिलता है लेकिन यदि आपको कभी ऐसी समस्या हो जाती है तो आप जामुन के छाल का रस निकालकर बकरी के दूध के साथ मिलाकर पीते हैं तो यह आपको काफी जल्दी राहत दिला सकता है यह पेचिश के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद औषधि है

डायबिटीज के इलाज में जामुन

जामुन-के-फायदे-शुगर-के-लिए.webp

जामुन के फायदे– जामुन के अंदर हाइपोग्लाइसीमिया नामक तत्व पाया जाता है जो ब्लड शुगर के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होता है यदि आप नियमित रूप से जामुन का सेवन करते हैं तो 30% तक डायबिटीज के खतरे को कम किया जा सकता है जामुन के बीज में एलकेडाइट्स नामक तत्व पाया जाता है जो ब्लड शुगर को घटाने में मदद करता है साथ ही साथ जामुन की गुठली का पाउडर डायबिटीज के मरीजों को काफी ज्यादा आराम पहुंचाता है

यदि आप इस का पाउडर बनाकर रोजाना सेवन करते हैं तो जल्द से जल्द ब्लड शुगर की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं हालांकि यात्रा पूर्ण रूप से खत्म नहीं कर सकता है लेकिन ब्लड शुगर के असर को कम कर सकता है क्योंकि यह एक आयुर्वेदिक औषधि है इसलिए यदि आप किसी अंग्रेजी दवा का सेवन भी कर रहे हैं तो इससे कोई समस्या नहीं होती है

बवासीर या पाइल्स में फायदेमंद जामुन

जामुन के फायदे– बवासीर या फाइल जैसी समस्या किसी के साथ भी हो सकती है यदि किसी व्यक्ति को बवासीर या पाइल्स हो जाती है तो उसे बहुत ज्यादा तकलीफ होती है मल के साथ काफी पीड़ा होती है और साथ ही खून निकलने का कारण भी बनता है यदि किसी व्यक्ति को पाइल्स हुआ है तो जामुन के फूलों के द्वारा बनाया गया रस 20 से 30 मिली में थोड़ी सी शक्कर मिलाकर लेने से आराम मिलता है यदि इसे दिन में तीन बार उपयोग किया जाए तो पाइल्स के द्वारा निकलने वाला खून बंद हो जाता है और रोगी को काफी ज्यादा आराम मिलता है

सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि पाइल्स का इलाज करने के लिए जामुन के पत्तों का भी उपयोग किया जाता है यदि आप ढाई सौ नीली गाय के दूध में 10 ग्राम जामुन के पत्तों को मिलाकर लगातार 7 दिनों तक दिन में तीन बार पीते हैं तो खूनी बवासीर में राहत मिलती है

पथरी का इलाज करे जामुन

Benifits of Jamun– यदि किसी व्यक्ति को किडनी स्टोन की समस्या है तो किडनी स्टोन के लिए जामुन बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है आज के समय में किडनी स्टोन एक बहुत ही कारण समस्या है और ज्यादातर लोगों में यह पाया जाता है किडनी स्टोन में पके हुए जामुन के फल को रोजाना सेवन करने से पथरी गल कर खत्म हो जाती है यदि आप जामुन के रस में सेंधा नमक मिलाकर दो से तीन बार रोजाना सेवन करते हैं तो यूरिन टैंक के अंदर होने वाली पथरी धीरे-धीरे गल कर पेशाब रास्ते से बाहर निकल जाती है यदि किसी व्यक्ति की किडनी में पथरी है तो उसे जामुन का सेवन रोजाना करना चाहिए

कान के रोग में जामुन के फायदे

Benifits of Jamun– ज्यादातर व्यक्तियों को कान से जुड़ी कई प्रकार की समस्याएं उत्पन्न होती हैं कभी-कभी कान में घाव हो जाता है या फिर किसी अन्य कारण से कान से पस निकलने लगता है इसे भी आप जामुन की गुठली के द्वारा नियंत्रित कर सकते हैं कान में यदि किसी भी कारणवश पस आ रहा हो तो ऐसे में व्यक्ति को जामुन की गुठली को पीसकर उसमें शहद मिला लेना चाहिए और इसके द्वारा तैयार हुए पदार्थ को एक एक बूंद कर कान में डालना चाहिए जिससे कान में होने वाला दर्द खत्म हो जाता है और कानों का बहना भी बंद हो जाता है यदि किसी व्यक्ति को ऐसी समस्या है तो इसका उपयोग जरूर करना चाहिए

मोटापा कम करे

Benifits of Jamun– जो व्यक्ति मोटापे से परेशान हो चुके हैं यानी कि उनका वजन बढ़ने लगा है उन व्यक्तियों के लिए जामुन काफी ज्यादा फायदेमंद होती है जामुन के अंदर कैलोरी बहुत ही कम मात्रा में होती है और फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है इसी के साथ जामुन के अंदर विटामिन सी फास्फोरस आयरन मैग्नीशियम और फोलिक एसिड प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जिसकी वजह से यह शरीर को स्वस्थ रखने के लिए काफी ज्यादा मदद करता है जामुन का सेवन करने से पेट लंबे समय तक भरा हुआ महसूस होता है जिससे आपको बार बार भूख नहीं लगती है और इस तरह से धीरे-धीरे आप अपने वजन को कंट्रोल कर सकते हैं

इम्यूनिटी बूस्ट करता है

इम्यूनिटी-सिस्टम-को-बढ़ाता-है-जामुन.webp

जामुन के फायदे– जिन व्यक्तियों का इम्यूनिटी सिस्टम बहुत ही कमजोर है यानी कि यदि मौसम के बदलाव के कारण उन्हें बार-बार कई सारी बीमारियों का सामना करना पड़ता है ऐसे व्यक्तियों को जामुन का सेवन करना चाहिए क्योंकि जामुन के अंदर कई सारे विटामिन और मिनरल्स के साथ-साथ एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होते हैं जो इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत करके स्टैमिना को बढ़ाने में मदद करते हैं

दिल के लिए फायदेमंद

Benifits of Jamun– जामुन में पोटेशियम की भरपूर मात्रा उपलब्ध होती है जो दिल के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होती है प्रति 100 ग्राम जामुन के अंदर लगभग 55 मिलीग्राम पोटैशियम पाया जाता है जो हाई ब्लड प्रेशर और दिल से जुड़ी बीमारियों से संबंधित जैसे कि हाटस्टोर जैसी समस्याओं के खतरे को कम करने में काफी ज्यादा मदद करता है इसी के साथ जामुन धमनियों को स्वस्थ रखने में मदद करता है और उसे सख्त होने में रोकता है जिससे खून का भाव सही तरीके से होता है और व्यक्ति को दिल के दौरे जैसी समस्या से छुटकारा मिलता है

इंफेक्शन को रोकता है

Benifits of Jamun– यदि किसी व्यक्ति को बार-बार इंफेक्शन हो जाता है तो उसके लिए जामुन किसी वरदान से कम नहीं है जामुन के अंदर टैनिक, गैलिक और मैलिक एसिड के साथ-साथ ऑक्जेलिक एसिड और Betulinic acid मौजूद होता है जो शरीर के इन्फेक्शन को दूर करने में मदद करता है सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि जामुन के अंदर कई सारे anti-infective और एंटी मटेरियल गुड़ के साथ-साथ एंटीबैक्टीरियल गुण भी पाए जाते हैं जो इन्फेक्शन को रोकने में सहायक होते हैं

FOLLOW USGOOGLE NEWS

जामुन खाने के नुक्सान (Jamun khane ke nuksan)

जामुन का सेवन बहुत अधिक मात्रा में नहीं करना चाहिए यदि किसी व्यक्ति को बार-बार रक्त के थक्के जमने की समस्या है तो उसे अधिक मात्रा में जामुन का सेवन करने से बचना चाहिए क्योंकि यदि ऐसे व्यक्ति अधिक मात्रा में जामुन का सेवन करते हैं तो ब्लड प्रेशर की समस्या उत्पन्न हो सकती है

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

  1. जामुन कब नहीं खाना चाहिए?

    यदि किसी व्यक्ति को ब्लड प्रेशर की समस्या है तो उसे अधिक मात्रा में जामुन का सेवन नहीं करना चाहिए

  2. क्या खाली पेट जामुन खा सकते हैं?

    जामुन एक कैसे ले प्रवृत्ति का फल है इसी वजह से इसमें हल्का खट्टापन होता है इसीलिए सुबह खाली पेट जामुन का सेवन नहीं करना चाहिए

  3. जामुन की तासीर क्या होती है?

    जामुन की तासीर कसेली होती है यह दांतो के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होती है यदि मुंह में छाले हैं तब भी इसका सेवन करना चाहिए

  4. जामुन खाने के बाद क्या क्या नहीं खाना चाहिए?

    जामुन खाने के तुरंत बाद दूध, चटपटी चीजें, हल्दी और अचार का सेवन नहीं करना चाहिए

  5. जामुन खाने के बाद पानी पीने से क्या होता है?

    जामुन खाने के तुरंत बाद कभी भी पानी नहीं पीना चाहिए क्योंकि इससे अपच और गैस की समस्या उत्पन्न होती है

Disclaimerयहां पर दी गई जानकारी जामुन के फायदे सामान्य रूप से समझने के लिए है यह किसी भी प्रकार से चिकित्सा का विकल्प नहीं है इन सभी चीजों का आजमाइश करने से पहले आपको अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए धन्यवाद

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Stay Connected

3,683फॉलोवरफॉलो करें
0सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें
- Advertisement -

Latest Articles