EPFO: पीएफ खाताधारकों के लिए खुशखबरी, कर्मचारियों को मिलेगा यह बड़ा फायदा

Rate this post

Epfo Fund investment: पीएफ पर मिलने वाले ब्याज के घटने के बाद सरकार पीएफ खाताधारकों को ज्यादा मुनाफा देने के लिए यह बड़ा कदम उठाने जा रही है

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन EPFO की ओर से एक अहम फैसला लिया गया जिसकी वजह से EPFO मेंबर्स को काफी ज्यादा दुःखी होना पड़ रहा है दरअसल बात यह है कि वित्त मंत्रालय के द्वारा फाइनेंशियल ईयर 2021-22 के अंतर्गत pf पर मिलने वाली ब्याज दर 8.1% कर दी गई है बता दें कि वित्तीय वर्ष 2020-21 में मिलने वाली ब्याज दर 8.5% निर्धारित की गई थी ईपीएफओ के द्वारा घटाई गई या ब्याज दर 40 सालों के दौरान सबसे कम आंकी गई है इससे लगभग 6.5 करोड़ नौकरी पेशा लोगों पर हो असर होगा

epfo-fund-investment-equity-market-gov-plan.jpg

ईपीएफओ की ब्याज दर घटने के बाद सरकार नौकरी पेशा लोगों के लिए अधिक मुनाफा देने के बारे में विचार कर रही है जिसके लिए सरकार ने एक नया प्लान बनाया है इस प्लान के अनुसार सरकार ईपीएफओ फंड को शेयर बाजार में निवेश करने की लिमिट को बढ़ाने के बारे में सोच रही है हालांकि अभी इस फैसले पर साकार निष्कर्ष लेने के लिए फैसला लेना बाकी है प्राप्त हुई जानकारी के अनुसार इस महीने के लास्ट तक सेंट्रल बॉडी ऑफ ट्रस्टी की बैठक होने वाली है जिसमें इस प्लान के ऊपर फैसला लिया जा सकता है

Follow US: Google News

मौजूदा समय में कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ईपीएफओ की तरफ से इक्विटी बाजार में 15% फंड निवेश किया जाता है EPFO के अनुसार 15 फ़ीसदी इक्विटी बाजार में निवेश पर मिलने वाले रिटर्न से अधिक मुनाफा नहीं प्राप्त किया जा सकता है जिसके कारण सरकार यह फैसला लेने के बारे में विचार कर रही है जिसके कारण आने वाले समय में ईपीएफओ के द्वारा इक्विटी बाजार में ईपीएफओ फंड का 25 फ़ीसदी निवेश किया जा सकता है और इस निवेश पर ज्यादा रिटर्न मिलने के कारण ईपीएफओ मेंबर्स को भी मुनाफा हो सकता है

बता दें कि 2 हफ्ते पहले 25 फ़ीसदी तक निवेश राशि बढ़ाने के लिए विचाराधीन प्रक्रिया के अंतर्गत फाइनेंस इन्वेस्टमेंट और ऑडिट कमेटी के द्वारा बैठक की गई थी प्राप्त जानकारी के अनुसार इस फैसले पर अगली बैठक इस महीने के लास्ट तक होने वाली है जिसके बाद सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टी के सामने प्रस्ताव पेश किया जाएगा, यदि सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टी की बैठक होती है तो बैठक होने के बाद जो फैसला आएगा उसे लेबर एंड फाइनेंस मिनिस्ट्री के पास फाइनल अप्रूवल के लिए भेज दिया जाएगा

प्राप्त जानकारी के अनुसार पीएफ फंड निवेश को दो चरणों में बढ़ाने का फैसला किया है जिसके अनुसार 15 प्रतिशत निवेश को बढ़ाकर 20% कर दिया जाएगा इसके बाद दोबारा बढ़ाकर इसे 25% तक किया जाएगा आपकी जानकारी के लिए बता दें की ईपीएफओ शेयर बाजार में ETF यानी कि एक्सचेंज ट्रेडेड फंड के माध्यम से निवेश करता है पिछली बैठक में इक्विटी एक्स्पोज़र को बढ़ावा देने के लिए और निवेश किए जाने वाले दिशानिर्देशों में संशोधन करने का प्रयत्न किया गया

Epfo के केंद्रीय बोर्ड CBT के अनुसार 85:15 के अनुपात से इक्विटी और ट्रेड में मिलने वाला रिटर्न high return नहीं हो सकता है इसीलिए सरकार यह प्लान बना रही है जिसके अनुसार जो पीएफ फंड इक्विटी बाजार में निवेश किया जाता है उसे बढ़ाया जाए जिसके कारण हाई रिटर्न प्राप्त किया जा सके और यदि हाई रिटर्न मिलता है तो पीएफ मेंबर को भी मुनाफा होगा

ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि पीएफ खाताधारकों के हित में सरकार के द्वारा लिया गया फैसला काफी फायदेमंद होगा और ब्याज दर घट जाने के कारण जिन पीएफ मेंबर को नुकसान का सामना करना पड़ रहा है उन्हें अधिक रिटर्न मिल सकेगा फिलहाल अभी इसके बारे में पूरी तरह से सटीक अनुमान लगाना संभव नहीं है यह अगली बैठक के आने के बाद ही सामने आएगा कि आने वाले समय में पीएफ खाताधारकों को कितना मुनाफा प्राप्त हो सकता है

इसे भी पढ़ें: Epf alert बदल गया पीएफ खाते का नियम इस तरह के अकाउंट होंगे बंद

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Stay Connected

3,683फॉलोवरफॉलो करें
0सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें
- Advertisement -

Latest Articles