Oily Skin Care: How To Get Oil Free Skin ( ऑयली स्किन से छुटकारा ) Clear Skin in hindi

Rate this post

How To Get Oil Free Skin: ऑयली स्किन के कारण स्किन चिपचिपी रहती है और यह दाग धब्बे तथा मुहांसों का कारण भी बन जाती है ऑयली स्किन से छुटकारा पाने के उपाय

स्किन के प्रकार– हम सबकी स्किन अलग-अलग प्रकार की होती है मोटे तौर पर skin के प्रकार को पांच भागों में बांटा गया है जिसमें normal skin, dry skin, oily skin, combination skin, sensitive skin शामिल है

oily-skin-ऑयली-स्किन-से-छुटकारा.webp
  1. normal skin– ऐसी स्किन पर मौसम के बदलने से किसी भी प्रकार का प्रभाव नहीं पड़ता है यह स्किन हमेशा सामान्य अवस्था में ही दिखाई देती है साधारण स्किन में तापमान के बदलने पर किसी भी प्रकार का प्रभाव नहीं पड़ता है तथा इसके विशेष देखरेख की आवश्यकता नहीं पड़ती है
  2. dry skin– सुखी स्किन को मेंटेन करने के लिए ज्यादा ध्यान देने की आवश्यकता होती है इसके लिए हमेशा किसी ऐसे मॉइश्चर वाले क्रीम या फिर ऐसे आहार का उपयोग करना पड़ता है जिससे कि इसकीन में नमी बनी रहे
  3. oily skin– ऑयली स्किन के अंदर हमेशा चिपचिपा पन बना रहता है जिसके कारण कई बार मुंहासों की समस्या देखने को भी मिलती है और ऑयली स्किन के कारण कई बार कॉन्फिडेंस भी डाउन हो जाता है हालांकि स्क्रीन आयल फायदेमंद होता है लेकिन जब अधिक मात्रा में यह आयल बढ़ जाता है तो कई सारी समस्याएं देखने को मिलती हैं
  4. combination skin– इस प्रकार की स्किन में रूखापन और ऑइली स्किन का मिलाजुला प्रभाव देखने को मिलता है
  5. sensitive skin– इस प्रकार की स्किन को विशेष देखरेख की जरूरत होती है क्योंकि यह मौसम के जरा सा प्रभाव बदलने पर अलग प्रकार से दिखाई देने लगती है

ऑयली स्किन– हमारी स्किन का dermal layer में sebaceous glands नाम के Oil production glands मौजूद होते हैं जो हमारी स्क्रीन को मॉइश्चराइज रखने में मदद करते हैं यह हमारी स्किन के ऊपर एक ऐसी ऑयल की लेयर बनाते हैं जो हमारे skin के लिए बहुत ही जरूरी होता है लेकिन कभी-कभी यह sebaceous glands बहुत ही ज्यादा एक्टिव हो जाती है जिसके कारण स्किन बहुत ही ज्यादा ऑयली हो जाती है और किस तरह से skin के अंदर चिपचिपापन दिखाई देने लगता है

ऑयली स्किन के नुकसान– जब हमारी स्किन के अंदर आयल का प्रोडक्शन अधिक मात्रा में बढ़ जाता है तो स्किन बहुत ही ज्यादा ऑयली, चिपचिपी या फ्रीजी दिखाई देने लगती है क्योंकि इस आयल की परतें त्वचा के रोम छिद्रों को डेड स्किन सेल्स के द्वारा बंद कर देती है जिसके कारण है एक्ने और मुंहासों की समस्या भी उत्पन्न हो सकती है ज्यादातर इस आयल की मात्रा माथे पर नाक के साइड में नाक के ऊपर या फिर गलों के ऊपर या पूरी चेहरे पर भी हो सकती है ऐसे लोगों की स्किन पर acneia pimples होने का खतरा भी अधिक रहता है

ऑयली स्किन होने के कारण– स्किन के आयली होने के कई सारे कारण हो सकते हैं कई बार इस किनके आयली होने का कारण जेनेटिक भी हो सकता है यह कई बार तापमान के ऊपर भी निर्भर होता है यदि आप बहुत अधिक गर्म तापमान या बहुत अधिक ठंडे तापमान में रहते हैं तो भी ऑइली स्किन होने का एक कारण है

साथ ही साथ यह वातावरण के कारण भी होता है जिस वातावरण में आप रहते हैं अगर वहां पर बहुत ज्यादा प्रदूषण मौजूद है तो भी स्किन ऑयली हो सकती है कई बार या खानपान के ऊपर भी निर्भर होता है यदि आपका ऐसे आयली चीजों का उपयोग ज्यादा करते हैं जिसमें तेल की मात्रा अधिक होती है तो भी स्किन ऑयली हो जाती है

Follow Us: Google News

How To Get Oil Free Skin In Hindi | ऑयली स्किन से छुटकारा

चेहरे को साफ करना– ऑयली स्किन से छुटकारा पाने के लिए लुक तरह-तरह के फेस वॉश और क्लीनर का उपयोग करते हैं लेकिन यह इसके ऊपर निर्भर होता है कि आप किस तरह की क्लीनर का उपयोग करके अपने चेहरे को साफ करते हैं इसलिए जब भी आप अपने चेहरे को साफ करते हैं तो इस बात का विशेष ध्यान रखें कि आप ऐसे फेसवास का ही उपयोग करें जो की पूरी तरह से आयल फ्री हो, जिसके लिए आपको lotion, hydrating moisturisers या jel creams with hyaluronic acid या aloe vera creamides युक्त फेसवास का उपयोग करना चाहिए

कभी भी चेहरे को धोते समय ज्यादा जोर से मालिश नहीं करना चाहिए इसे बहुत ही हल्के हाथों से मालिश करना चाहिए और यह प्रक्रिया दिन में सिर्फ दो बार करनी चाहिए चेहरे को धोने के लिए जिस पानी का उपयोग करते हैं वह पानी ज्यादा गर्म आथवा ठंडा नहीं होना चाहिए क्योंकि यदि आप अपने चेहरे को ज्यादा स्क्रब करते हैं तो आपकी skin में आयल की कमी हो सकती है जिसके कारण स्किन में रूखापन आने की संभावना होती है

स्किन को मॉइश्चराइज करना– ज्यादातर लोग यह सोचते हैं कि यदि स्किन ऑयली है तो इसमें मॉइश्चर का उपयोग करने की जरूरत क्या है लेकिन यही सबसे बड़ी गलती है क्योंकि आपको चेहरा धोने के बाद मॉइश्चर का उपयोग करना ही चाहिए आपको ऐसे मॉइश्चराइजर का उपयोग नहीं करना चाहिए जिसमें आयल की मात्रा ज्यादा होती है आपको किसी नॉर्मल मॉइश्चराइजर क्रीम का उपयोग करना चाहिए जैसे कि एलोवेरा जेल या hyaluronic acid से युक्त cream

जब आप अपने चेहरे को धो लेते हैं तो त्वचा की ऊपरी परत जिसमें आयल मौजूद होता है वह परत हट जाती है और जब वह परत हट जाती है तो चेहरे में रूखापन दिखाई देता है जिसकी वजह से जो हमारी त्वचा के अंदर आयल का प्रोडक्शन करने वाली सेल्स होती है उन्हें ऐसा महसूस होता है कि आयल की कमी हो रही है जिसकी वजह से वह और भी ज्यादा आयल का प्रोडक्शन करते हैं इसलिए चेहरे को धोने के बाद मॉइश्चर का उपयोग करना चाहिए

टोनर का इस्तेमाल– जिन लोगों की स्किन ऑयली होती है वह लोग आपने स्किन पर से आयल को हटाने के लिए toner का उपयोग करते हैं जबकि यह बिल्कुल ही गलत है toner का उपयोग करने से skin के ऊपरी लेयर पर मौजूद आयल के साथ ज्यादा मात्रा में आयल निकल जाता है जिसकी वजह से स्किन में रूखापन होने लगता है इसलिए कभी भी ऑयली स्किन के लिए टोनर का उपयोग नहीं करना चाहिए

सन स्क्रीन का उपयोग करें– सनस्क्रीन क्रीम आपके डेलिकेट स्किन को धूप के साथ निकलने वाली अल्ट्रावायलेट किरणों से बचाता है इसलिए जब भी आप बाहर जाते हैं तो बाहर जाते समय सनस्क्रीन क्रीम का उपयोग करना चाहिए, अलग-अलग प्रकार की स्किन के लिए अलग-अलग प्रकार के सनस्क्रीन बाजार में उपलब्ध है जिन्हें आप अपनी जरूरत के अनुसार उपयोग कर सकते हैं घर से बाहर निकलने के 25 या 30 मिनट पहले सनस्क्रीन क्रीम लगाना बहुत ही जरूरी है

सही प्रोडक्ट का चुनाव– आपकी skin किसी भी प्रकार की हो उसके लिए आपको सही प्रोडक्ट का चुनाव करना बहुत ही जरूरी है जब भी आप किसी ऐसे फेसवास या क्रीम का उपयोग करते हैं तो इन्हें खरीदते समय इस बात का ध्यान देना बहुत ही जरूरी है कि कौन सी स्किन के लिए कौन सा क्रीम या फेसवास जरूरी है

यदि आप ड्राई स्किन पर ड्राई स्किन क्रीम या ड्राई स्किन फेसवास का उपयोग करेंगे तो या उल्टा प्रभाव डालता है इसीलिए जब भी आप इस प्रकार के प्रोडक्ट खरीदते हैं तो यह जरूर देख लें कि यह आयली स्किन के लिए है या ड्राई स्किन के लिए

मेकअप लगाते समय ध्यान दें– यदि आप अपने चेहरे पर मेकअप का उपयोग करते हैं तो मेकअप करते समय आपको इस बात पर जरूर ध्यान देना चाहिए कि जिस प्रोडक्ट का उपयोग आप अपने मेकअप में कर रहे हैं वह ऑयली स्किन के लिए सही है या फिर आयल फ्री स्किन के लिए, इसके बाद जब आप रात को सोने जाते हैं तो रात को सोते समय अपने चेहरे पर किए गये मेकअप को किसी माइल्ड क्लीनिंग लोशन से जरूर धो लेना चाहिए साथ ही आपको यह ध्यान देना चाहिए कि जिस लोशन का उपयोग आप कर रहे हैं उसमें किसी भी प्रकार का हानिकारक केमिकल ना मिला हो

तकिया का कवर बदलें– यदि आपकी स्किन ऑयली है तो आपको अपने तकिया का कवर कम से कम हफ्ते में एक बार जरूर बदलना चाहिए क्योंकि जब आप सोते हैं तो आपके ऑयली स्किन के साथ स्किन में मौजूद बैक्टीरिया तकिए के कवर पर चले जाते हैं और जब भी आप दोबारा उसी तकिया का उपयोग करते हैं तो यह भी आपकी स्क्रीन पर निवारक संक्रमण पैदा करने के लिए जिम्मेदार होता है जिसकी वजह से चेहरे पर एक्ने या पिंपल्स जैसी समस्याएं उत्पन्न होने की संभावना बढ़ जाती है

ऑयली चीजें या फास्ट फूड– जिन लोगों की स्किन ऑयली है उन लोगों को अपने खाने पीने की चीजों पर भी विशेष ध्यान देना चाहिए ऐसे लोगों को surgery food, soft drink, aerated cold drinks, sweets, chocolate, dairy products– milk, ice cream जैसी चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए या फिर यदि आप इनका सेवन करते हैं तो इसे बहुत ही कम मात्रा में करना चाहिए

यदि आपको खाना ही है तो आप अपने खाने में दाल हरी पत्तेदार सब्जियां फ्रूट आदि भारतीय भोजन को शामिल कर सकते हैं जिसकी वजह से आपके शरीर को डिटॉक्सिफाई करने में काफी ज्यादा मदद मिलती है और आयली स्किन से छुटकारा भी मिल जाता है

इसे भी पढ़ें: हर तरह के दाग धब्बों को खत्म करने का आसान तरीका|how to cure pigmentation|stretch marks

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Stay Connected

3,691फॉलोवरफॉलो करें
0सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें
- Advertisement -

Latest Articles