32.1 C
Delhi
शनिवार, अगस्त 13, 2022

Debit-Credit Card: 1 जुलाई 2022 से पहले करवा लें टोंकनाइज वरना नहीं कर पाएंगे यह काम

Debit-Credit Card: आरबीआई गाइडलाइंस के अनुसार डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड को टोंकनाइज करवाना अनिवार्य है नहीं तो पेमेंट करने में होगी परेशान

Debit-Credit Card tokenization: भारतीय रिजर्व बैंक आरबीआई की तरफ से यह सूचना जारी की गई है कि सभी डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड के तहत online, point of sale और इन एप के द्वारा लेन देन करने के लिए सभी डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड को 30 जून तक टोकनाइज करवाना अनिवार्य है सभी ग्राहकों को अपने डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड को यूनिक टोकन के द्वारा बदलना होगा

Credit-Debit-Card.webp

क्या है डेबिट कार्ड क्रेडिट कार्ड टोकेनाइजेशन

आरबीआई की गाइडलाइंस के अनुसार डेबिट कार्ड क्रेडिट कार्ड टोकेनाइजेशन एक प्रकार के टोकन सिस्टम पर आधारित है जो किसी भी डेबिट कार्ड के अंदर स्टोर की गई सभी जानकारी को एक वैकल्पिक कोड के द्वारा बदल देता है जो कार्ड, टोकन अनुरोधकर्ता (यानी वह इकाई जो किसी भी डेबिट क्रेडिट कार्ड के के टोकन के लिए ग्राहक से अनुरोध स्वीकार करती है और इसे कार्ड पर भेजती है नेटवर्क से संबंधित टोकन जारी करने के लिए) और डिवाइस (आइडेंटिफाइड डिवाइस) के कॉम्बिनेशन के लिए उपयोग करती है टोकन का यह सिस्टम सभी डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड के लिए यूनिक होगा

Follow US: Google News

यदि इसे दूसरे शब्दों में समझें तो यह एक प्रकार का ऐसा सिस्टम है जब कोई भी ग्राहक किसी भी ऑनलाइन वेबसाइट या एप्लीकेशन का उपयोग करके अपने डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड के द्वारा पेमेंट करता है तो इसके लिए कार्ड पर अंकित कार्ड नंबर सीवीवी नंबर और एक्सपायरी डेट का उपयोग करना होता है जो कि ब्राउज़र में सेव हो जाता है

समझिए टोंकनाइज का क्या मतलब है?

भारतीय रिजर्व बैंक के अनुसार 1 जुलाई 2022 के बाद कोई भी मर्चेंट ग्राहकों के डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड नंबर, एक्सपायरी डेट, सीवीवी नंबर जैसी संवेदनशील जानकारी को अपने पास किसी भी तरह से स्टोर नहीं कर सकता है ग्राहक की डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड की सुरक्षा के लिए आरबीआई के नए नियम अनुसार secure/tokenize my card के द्वारा क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड की जानकारी को ऑनलाइन वेबसाइट और एप्लीकेशन पर टोकन नाम के एक वैकल्पिक कोड के द्वारा बदल दिया जाएगा, जिससे डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड को ज्यादा सुरक्षा मिल सकेगी और फ्रॉड होने का खतरा कम होगा

टोंकनाइज नहीं करने से होगी यह परेशानी

यदि आप अपने डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके किसी भी मर्चेंट वेबसाइट/ऐप का भुगतान करते हैं तो जो आपके द्वारा सेव की गई आपके कार्ड की सारी डिटेल रहती है वह 1 जुलाई 2022 के बाद पूरी तरह से हटा दी जाएगी और हर बार भुगतान करने के लिए आपको अपने कार्ड की सारी डिटेल को डालना होगा, यदि यहीं पर आप इस सुविधा का उपयोग करते हैं तो आप अपने कार्ड को टोंकनाइज करने के बाद अपने कार्ड के अंतिम 4 अंकों का उपयोग करके कार्ड की पहचान कर पाएंगे और यह जानकारी व्यापारी के पास स्टोर रहेगी

credit-debit-card-tokenization.webp

इसे भी पढ़ें : यूपीआई के द्वारा गलती से दूसरे अकाउंट में ट्रांसफर हो गए पैसे को ऐसे पाएं वापस

यदि आप आरबीआई के द्वारा जारी की गई इस सुविधा का लाभ लेकर अपने कार्ड को टोंकनाइज करवा लेते हैं तो आपको बैंक की तरफ से एक पोर्टल प्रदान किया जाएगा जिसके अंदर आप अपने कार्ड की सुरक्षा के लिए, सुरक्षित/टोकनाइज कार्ड को मैनेज करने के लिए उपयोग कर पाएंगे, इस पोर्टल के द्वारा आप अपने कार्ड के टोकन को देख सकते हैं और यदि आप किसी भी टोकन को हटाना चाहते हैं तो आसानी से उस टोकन को हटा सकते हैं

टोकेनाइजेशन जरूरी है या नहीं

हालांकि यह आपके ऊपर निर्भर करता है कि आप अपने कार्ड को टोकेनाइज करना चाहते हैं या नहीं यदि आप अपने कार्ड को टोकेनाइज नहीं करते हैं तो जब भी आप किसी भी मर्चेंट ऑनलाइन वेबसाइट/एप के द्वारा पेमेंट करेंगे तो हर बार भुगतान करने के लिए आपको अपने कार्ड की सभी जानकारी जैसे कि कार्ड का नंबर, कार्ड का एक्सपायरी डेट और कार्ड का सीवीवी नंबर डालना होगा जिसके बाद आप भुगतान कर पाएंगे

debit-card-tokenization-rbi-guidelines-update.webp

इस तरह से कर सकते हैं सिक्योर

  • अपने बिल का भुगतान करने के लिए, किसी भी किराना स्टोर का भुगतान करने के लिए या खाने पीने वाली चीजों को आर्डर करने के लिए आप जिस भी वेबसाइट का उपयोग करते हैं उस वेबसाइट पर जाएं
  • और आर्डर करने के बाद जब आप चेक आउट के पेज पर जाते हैं तो यहां पर आप अपने क्रेडिट/डेबिट कार्ड का चुनाव करें
  • इसके बाद अपने क्रेडिट या डेबिट कार्ड का नंबर दर्ज करें साथ ही साथ एक्सपायरी डेट और सीवीवी नंबर भी दर्ज करें
  • जिसके बाद आपको दो विकल्प दिखाई दे सकते हैं जैसे कि Secure your Card या save card as per RBI guidelines
  • यदि आपके सामने इन दोनों विकल्प में से कोई भी दिखाई देता है तो आप इस बॉक्स पर ट्रिक करें
  • इसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी प्राप्त होगा इस ओटीपी को दर्ज करें
  • इस प्रक्रिया को पूरा करने के बाद आपका कार्ड पूरी तरह से सुरक्षित हो जाएगा

यदि आप यह नहीं चाहते हैं कि आपको बार-बार भुगतान करने के लिए अपने डेबिट क्रेडिट कार्ड की सभी जानकारी को भरना पड़े तो आप अपने कार्ड को टोंकनाइज कर सकते हैं ध्यान दें कि यह 1 जुलाई से पहले ही करना होगा क्योंकि यदि आप ऐसा नहीं करते हैं तो 30 जून के बाद आपके द्वारा सेव की गई सभी कार्ड की जानकारी ब्राउज़र पर से हटा दी जाएगी

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Stay Connected

2,000फैंसलाइक करें
14,064फॉलोवरफॉलो करें
2,376फॉलोवरफॉलो करें
- Advertisement -

Latest Articles